तकनीकी विश्लेषण का आधार

खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है?

खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है?
डिजिटल कम्प्यूटर्स इंफॉर्मेशंस के डिजिटल फॉर्म में कार्य करते है। डिजिटल कंप्यूटर ज्यादा तेज गति से और शुद्धता से ऑपरेट करते है। ये कंप्यूटर गिनती से काम (ऑपरेट) खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? करते है। डिजिटल कंप्यूटर का उपयोग सामान्य प्रयोजन अनुप्रयोगों और डाटा की विशाल मात्रा को प्रोसेस करने के लिए करते है।

Tally में Ledger को Group कैसे दे |

Nipat (Particle)-निपात

संसार की विभिन्न भाषाओं में अनेक दृष्टियों से शब्दों का वर्गीकरण किया गया है। भारतवर्ष में शब्दों का प्राचीनतम वैज्ञानिक वर्गीकरण यास्क मुनि का माना जाता है। इसके अनुसार शब्द चार प्रकार के खातों में खतियाये गये हैं।
'चत्वारि पदजातानि नमाख्याते चोपसर्गनिपातश्च'
नाम, आख्यात, उपसर्ग और निपात। आजतक जितने भी शब्द-वर्गीकरण किये गये हैं उनमें इसका महत्त्वपूर्ण स्थान है।

''भाषा में दो तरह के शब्द प्रमुख है- नाम और आख्यात- संज्ञाएँ और क्रियाएँ। दूसरे दर्ज पर हैं उपसर्ग और निपात (या अव्यय)। नाम और आख्यात स्वतंत्र चलते हैं और उपसर्ग, निपात इनकी सेवा में रहते हैं।''- ''हिन्दी शब्दानुशासन'' श्री किशोरीदास वाजपेयी''

निपात ऐसा सहायक शब्द भेद है जिसमें वे शब्द आते हैं जिनके प्रायः अपने शब्दावलोसंबंधी तथा वस्तुपरक अर्थ नहीं होते हैं।'' यथा- तक, मत, क्या, हाँ, भी, केवल, जी, नहीं, न, काश।

निपात के प्रमुख कार्य

प्रश्न- जैसे- क्या वह विद्यालय गया था ?
अस्वीकृति- जैसे-वह घर पर नहीं है।
विस्मयादिबोधक- जैसे- कैसी सुहावनी रात है।
किसी शब्द पर बल देना- जैसे- मुझे भी इसका पता है।

यास्क ने निपात के तीन भेद माने है-
(1) उपमार्थक निपात : यथा- इव, न, चित्, नुः
(2) कर्मोपसंग्रहार्थक निपात : यथा- न, आ, वा, ह;
(3) पदपूरणार्थक निपात : यथा- नूनम्, खलु, हि, अथ।

निपात के प्रकार

निपात के नौ प्रकार खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? होते हैं-
(1) स्वीकारात्मक निपात- हाँ, जी, जी हाँ। ये सब निपात स्वीकृति को व्यक्त करते हैं तथा सदैव स्वीकारार्थक उत्तर के आरम्भ में आते हैं।
प्रश्न- तुम विद्यालय जाते हो ?
उत्तर- जी।
प्रश्न- आप घर जा रहे हैं ?
उत्तर- जी हाँ।
जी तथा जी हाँ निपात विशेष आदरसूचक स्वीकारार्थक उत्तर के समय प्रयुक्त होते हैं।

(2) नकारात्मक निपात- नहीं, जी नहीं।
प्रश्न: तुम्हारे पास यह कलम है ?
उत्तर- नहीं।

(3) निषेधात्मक निपात- मत।
मत- आज आप मत जाइए। मुझे अपना मुँह मत दिखाना।

(4) आदरार्थक निपात- क्या, न।
क्या- तुम्हें वहाँ क्या मिलता है ?
न- तुम अँगरेजी पढ़ना नहीं जानते हो न ?

कानून क्या हैं? कानून की परिभाषा क्या हैं? कानून कितने प्रकार के होते हैं?

अगर आप 12th कक्षा में हैं या अगर आप B.A में हैं और अगर आपको कानून क्या हैं इत्यादि इससे जुड़े प्रश्न आते खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? हैं तो आप बेझिझक इस लेलख में दिए गये उत्तर को लिख सकते हैं.

कानून क्या हैं?

कानून क्या हैं?

राज्य अपने नागरिकों के जीवन के संचालन हेतु नियमों का निर्माण करता है, जिनका पालन करना व्यक्ति के लिए आवश्यक होता है और जिनका पालन न किये जाने पर व्यक्ति दण्ड का भागी होता है।

किसी भी देश या राज्य द्वारा निर्मित और लागू किए जाने वाले इन नियमों को ही कानून कहते हैं। कानून आंग्ल भाषा के ' लॉ ' ( Law ) शब्द का हिन्दी रूपान्तर है। ' लॉ ' शब्द खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? की उत्त्पत्ति ट्यूटॉनिक ' लैग ' ( Lag ) शब्द से हुई है,

जिसका अर्थ होता है खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? ऐसी वस्तु जो सदा स्थिर, स्थायी और निश्चित या सभी परिस्थितियों में समान रूप में खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? रहे। अतः शब्द व्युत्पत्ति की दृष्टि से ' कानून ' का अर्थ है ' वह जो एकरूप बना रहे। 'ऑक्सफोर्ड शब्दकोश' में इसकी परिभाषा ' सत्ता द्वारा आरोपित आचार व्यवहार के नियम के रूप में की गयी है।

कानून की परिभाषा क्या हैं?

किसी भी देश, राज्य या फिर संस्था को नियमित ढंग से व सुचारू रूप से चलाने के लिए कई प्रकार के नियमों और विधियों को बनाये जाते हैं जिसका पालन करना हर उस नागरिक का कर्तव्य हैं जो उस देश या राज्य का निवासी होता हैं, अर्थात इन नियमों और विधियों का पालन न किए जाने पर वह नागरिक दंड का भागी होगा।

कुछ प्रमुख विद्वानों खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? द्वारा कानून की परिभाषा इस प्रकार की गयी है : वुडरो विल्सन के अनुसार, ' कानून स्थिति , विचार तथा स्वभाव का वह अंश है, जिसे शासक की शक्ति लागू करती है। " आस्टिन के अनुसार , ' कानून सम्प्रभु की आज्ञा है।

"ग्रीन के अनुसार, " अधिकारों और कर्तव्यों की उस पद्धति को कानून कहा जा सकता है, जिसे सरकार लागू करती है। " उपर्युक्त परिभाषाओं की अपेक्षा हालैण्ड की परिभाषा अधिक स्पष्ट है, जिसके अनुसार, "आचरण के उन सामान्य नियमों खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? को कानून कहते हैं,

कानून कितने प्रकार के होते हैं?

विभिन्न विद्वानों ने कानूनों का वर्गीकरण विभिन्न प्रकार से किया है, कुछ विद्वान ने निजी सार्वजनिक विशेषताओं के आधार पर, तो कुछ अन्य विद्वानों ने राष्ट्रीयता एवं अन्तर्राष्ट्रीयता के आधार पर किया हैं,

व्यक्तिगत कानून ( Private Laws ) -

ये कानून व्यक्तियों के पारस्परिक सम्बन्धों को निश्चित करते हैं उदाहरणस्वरूप, ऋण सम्बन्धी कानून और जायदाद खरीदने व बेचने के कानून इसी श्रेणी में आते हैं।

सार्वजनिक कानून ( Public Laws ) -

इस कानूनों द्वारा व्यक्ति का सरकार या राज्य के साथ सम्बन्ध निश्चित किया जाता है। उदाहरणस्वरूप, कर लगाने , चोरी, डकैती और हत्या करने वालों को दण्ड देने के लिए जो कानून बनाये जाते हैं, इन्हें इसी सूची में शामिल किया जाता है।

संवैधानिक कानून ( Constitutional Laws ) -

संवैधानिक कानून उस कानून को कहते हैं जिसके द्वारा सरकार का ढांचा निश्चित किया जाता है और जिसके द्वारा राज्य के प्रति नागरिकों के अधिकारों तथा कर्तव्यों का विश्लेषण किया जाता है। उदाहरणस्वरूप,

Nipat (Particle)-निपात

संसार की विभिन्न भाषाओं में अनेक दृष्टियों से शब्दों का वर्गीकरण किया गया है। भारतवर्ष में शब्दों का प्राचीनतम वैज्ञानिक वर्गीकरण यास्क मुनि का माना जाता है। इसके अनुसार शब्द चार प्रकार के खातों में खतियाये गये हैं।
'चत्वारि पदजातानि नमाख्याते चोपसर्गनिपातश्च'
नाम, आख्यात, उपसर्ग और निपात। आजतक जितने भी शब्द-वर्गीकरण किये गये हैं उनमें इसका महत्त्वपूर्ण स्थान है।

''भाषा में दो तरह के शब्द प्रमुख है- नाम और आख्यात- संज्ञाएँ और क्रियाएँ। दूसरे दर्ज पर हैं उपसर्ग और निपात (या अव्यय)। नाम और आख्यात स्वतंत्र चलते हैं और उपसर्ग, निपात इनकी सेवा में रहते हैं।''- ''हिन्दी शब्दानुशासन'' श्री किशोरीदास वाजपेयी''

निपात ऐसा सहायक शब्द भेद है जिसमें वे शब्द आते हैं जिनके प्रायः अपने शब्दावलोसंबंधी तथा वस्तुपरक अर्थ नहीं होते हैं।'' यथा- तक, मत, क्या, हाँ, भी, केवल, जी, नहीं, न, काश।

निपात के प्रमुख कार्य

प्रश्न- जैसे- क्या वह विद्यालय गया था ?
अस्वीकृति- जैसे-वह घर खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? पर नहीं है।
विस्मयादिबोधक- जैसे- कैसी सुहावनी रात है।
किसी शब्द पर बल देना- जैसे- मुझे भी इसका पता है।

यास्क ने निपात के तीन भेद माने है-
(1) उपमार्थक निपात : यथा- इव, न, चित्, नुः
(2) कर्मोपसंग्रहार्थक निपात : यथा- न, आ, वा, ह;
(3) पदपूरणार्थक निपात : यथा- नूनम्, खलु, हि, अथ।

निपात के प्रकार

निपात के नौ प्रकार होते हैं-
(1) स्वीकारात्मक निपात- हाँ, जी, जी हाँ। ये सब निपात स्वीकृति को व्यक्त करते हैं तथा सदैव स्वीकारार्थक उत्तर के आरम्भ में आते हैं।
प्रश्न- तुम विद्यालय जाते हो ?
उत्तर- जी।
प्रश्न- आप घर जा रहे हैं ?
उत्तर- जी हाँ।
जी तथा जी हाँ निपात विशेष आदरसूचक स्वीकारार्थक उत्तर के समय प्रयुक्त होते हैं।

(2) नकारात्मक निपात- नहीं, जी नहीं।
प्रश्न: तुम्हारे पास यह कलम है ?
उत्तर- नहीं।

(3) निषेधात्मक निपात- मत।
मत- आज आप मत जाइए। मुझे अपना मुँह मत दिखाना।

(4) आदरार्थक निपात- क्या, न।
क्या- तुम्हें वहाँ क्या मिलता है ?
न- तुम अँगरेजी पढ़ना नहीं जानते हो न ?

कंप्यूटरों का वर्गीकरण | Classification Of Computers - TadkaBright.Com

Computer Ka Vargikaran (Classification Of Computers)

TadkaBright || दोस्तों क्या आपने कभी डिजिटल कंप्यूटर, मिनी कंप्यूटर, माइक्रो कंप्यूटर, एनालॉग कंप्यूटर और भी कही वर्गों के कंप्यूटरों का नाम सुना है तो अच्छी बात है अगर नहीं सुना तो कोई बात नही क्योंकि आज हम इस लेख के माध्यम से सभी वर्गो के कंप्यूटरों की जानकारी देने वाले हैं, यानि की "कंप्यूटरों का वर्गीकरण" करने वाले है। तो पोस्ट को आप अंत तक जरुर पढ़े ताकि आपको कंप्यूटर के वर्गीकरण के बारे में पूर्ण जानकारी मिल सके।

Tally में Ledger को Group कैसे दे |

Hello Friends, सबसे पहले मैं आप का स्वागत करता हु। मेरे ब्लॉग पर जिसका नाम है Accountingsikhehindime.blogspot.com ये तो बात हो गयी मेरे ब्लॉग की अब बात करते हैं। Tally मे Group क्या है और Tally मे Ledger बनाते समय Group का निर्धारण कैसे करे।

दोस्तों यदि आप ने Accounting सीखने के लिए Tally software का चयन किया है। तो आप ने बिल्कुल सही किया है। क्योंकि य़ह बहुत ही सरल software है। परन्तु यदि आप ने Tally मे ठीक तरह से इन्फॉर्मेशन नहीं भरी है। तो आप को Tally गलत परिणाम भी दे सकता है। क्योंकि Tally मे हमे ठीक से Ledger बनाना और ठीक से Group का निर्धारण करना, तथा ठीक से item बनाना आदि कार्य खातों का वर्गीकरण कितने प्रकार का होता है? करना होता है। नहीं तो Tally से हमे गलत परिणाम भी मिल सकते हैं।

आज हम एक ऐसी ही समस्या के बारे में बात करेगे। जिसके कारण बहुत से नए Tally user का Trading Account, Profit and Loss Account और Balance Sheet का परिणाम ठीक तरह से नहीं आता। और वो समस्या है, Tally मे Ledger बनाते समय Group का निर्धारण गलत कर देना। सबसे पहले हम समझ लेते हैं, की Tally मे Group क्या है।

रेटिंग: 4.63
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 260
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *